कोरोनावाइरस के बाद क्या पूरी दुनिया चीन के खिलाफ हो जाएगी?

कोरोनावायरस से दुनिया में संक्रमितों की संख्या 42 लाख 32 हजार 350 हो गई है। 2 लाख 85 हजार 743 की मौत हुई है। इसी दौरान 15 लाख 17 लाख हजार 483 स्वस्थ भी हुए हैं। कोरोनावायरस का वैक्सीन तैयार करने में भारत समेत कई देश जुटे हैं लेकिन इस सब परेशानियों का कारण चाइना है भारत में और दूसरे देशों में कोरोना फ़ैलाने के पीछे चीन का हाथ है.ऐसे में क्या पूरी दुनिया चीन के खिलाफ होगी | लाखो लोगों का बीमार होना और मौत होना अगर महामारी है तो गनीमत है लेकिन अगर यह चाइना की कोई साजिश निकली तो इस महामारी से निपटने के बाद एक तरफ चीन खड़ा होगा और एक तरफ सारे देश और फिर छिड़ेगी एक नयी जंग | इस महामारी ने आर्थिक परेशानिया भी खड़ी कर दी है | लोगों की नोकरिया चली गई है | पर्यटन स्थल पूरी तरह  हो गए है | बड़ी -बड़ी कम्पनिया बंद हो गई है | लोग अपने घर को चलाने के लिए कर्ज ले रहे है ऐसे में सभी परेशानियों का कारण दूसरे देश वाले चीन को बता रहें है सभी का कहना है कि इसका कर्ज चीन चुकाएगा ,क्यों कि डोनाल्ड ट्रम्प ने पहले ही चीन के ऊपर आरोप लगाए है और उनके पास चीन के खिलाफ सबूत भी है | 
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक बार फिर पूरे यकीन के साथ दावा किया कि दुनियाभर में 2,30,000 से अधिक लोगों की जान लेने वाले और अर्थव्यवस्थाओं को तबाह करने वाले कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन के वुहान शहर की एक विषाणु विज्ञान प्रयोगशाला से हुई है.‘ उन्होंने आगे कहां मैं यह नहीं कहना चाहता लेकिन निश्चित तौर पर इसे रोका जा सकता था. यह चीन से पैदा हुआ और इसे रोका जा सकता था और काश वे इसे रोकते.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे या तो इसे रोकने में सक्षम नहीं थे या वे रोकना नहीं चाहते थे. और दुनिया को इसका भारी खमियाजा उठाना पड़ा. यानी कि उन्होंने सीधा -सीधा निशाना चीन पर साधा और कहां की ये साजिश है| और अगर ये साजिश हुई तो इसके खिलाफ बड़ी जंग छिड़ेगी और एक तरफ सभी देश होंगे और एक तरफ चीन |
This article is written By: Vagisha Pandey

0 Comments