Happy International Day of Families

परिवार क्या है परिवार वो है जहां सब साथ रहके खुशियां बाट सके,एक ऐसी नीव जो घरो को जोड़ना जानती है | परिवार ही पर्यावरण की बुनियाद है. परिवार के बिना सब कुछ अधूरा है और इस वक़्त दुनिया लॉकडाउन की  वजह से उलझन में फंसी हुई है ऐसे में सभी को परिवार रहना चाहिए,और आज हम परिवार की बात इसलिए कर रहे है क्यों कि आज इंटरनेशनल फॅमिली डे है | हर साल 15 मई को फॅमिली डे मनाया जाता है | ख़ुशी का दूसरा नाम परिवार है | पहले लोग परिवार में सब साथ रहते थे लेकिन आज बहुत सी परेशानियों के चलते साथ नहीं रह पाते | साथ में रहने से आपका अकेलापन दूर होता है चाहे दुःख 

 हो या सुख सभी लोग मिलकर उसका सामना करते है | अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस का मुख्य उद्देश्य युवाओं को परिवार के प्रति जागरूक करना है ताकि युवा अपने परिवार से दूर न हों.लेकिन इस दिवस की शुरुआत कब से हुई थी वो भी देख लेते है | साल 1993 में संयुक्त राष्ट्र जनरल असेंबली ने अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस की शुरुआत की थी. यहीं से हर साल 15 मई के दिन इसे मनाने की घोषणा की गई थी.ये दिवस परिवार से जुड़ी मुद्दों पर समाज में जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है ताकि सब लोग एक साथ रह सके | इस पूरी दुनिया में अकेले रहना एक व्यक्ति के लिए सबसे बुरा समय है इसके उल्टा , किसी के पास परिवार का होना,बहुत ही ख़ुशी की बात है और वो इंसान बहुत खुश किस्मत है |  जब फॅमिली  का नाम लिया जाता है तो सबसे पहले मां-बाप ही आते हैं वह मां-बाप जो आपकी हर जरूरत के लिए, अपनी जरूरतों को त्याग देते हैं उसे परिवार कहते है | तो हमेशा परिवार के साथ रहिये |

"ना कोई रास्ता सरल चाहिए,

ना ही कोई आदर चाहिए,

एक ही चीज माँगते है रोज भगवान से,

 पुरे परिवार के चेहरे पर हर वक़्त हंसी चाहिए"


"ना जाने कितनी बार टुटा

ना जाने कितनी बार साथ छूटा

ना जाने कितनी बार अकेले हुए

पर परिवार ने हर वक़्त साथ दिया और हर साथ हाथ पकडे रखा "
This article is written By: Vagisha Pandey

0 Comments